Friday, January 27, 2023
8.1 C
Delhi
Friday, January 27, 2023
- Advertisement -corhaz 3

चुनाव प्रचार के आखिरी दिन तक घोषणा पत्र जारी करने में संघर्ष कर रही है कांग्रेस |

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार शुक्रवार शाम समाप्त हो गया। लेकिन सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी पंजाब चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र जारी करने के लिए आज भी संघर्ष कर रही है। समझा जा रहा है कि कांग्रेस का घोषणा पत्र पंजाब कांग्रेस के चार बड़े नेताओं अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू, मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, प्रचार समिति के प्रमुख सुनील जाखड़ और घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष प्रताप सिंह बाजवा के चतुष्कोण में फंसा हुआ है।

पंजाब कांग्रेस के चुनावी घोषणापत्र की कहानी 11 जनवरी को शुरू हुई, जब पार्टी ने 25 सदस्यीय घोषणापत्र समिति और 31 सदस्यीय अभियान समिति का गठन किया। 

सिद्धू ने 25 जनवरी को की थी बैठक

दो हफ्ते बाद यानी 25 जनवरी को सिद्धू ने पंजाब चुनाव के लिए पार्टी के घोषणापत्र को लेकर जालंधर में राज्यसभा सांसद बाजवा और कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर सिंह के साथ बैठक की। सिद्धू ने अपना 13 सूत्री पंजाब मॉडल पेश किया और जालंधर में बाजवा और सिंह के साथ मीडिया को संबोधित किया।

घोषणापत्र समिति के प्रमुख बाजवा ने घोषणा की कि सिद्धू का पंजाब मॉडल पंजाब के लिए कांग्रेस के घोषणापत्र का हिस्सा होगा। सिद्धू के पंजाब मॉडल ऑफ गवर्नेंस में एक ‘जीतेगा पंजाब आयोग’ का वादा किया गया है, जो स्पष्ट रूप से एक निकाय हो सकता है। यह प्रदेश सरकार के प्रत्येक विभाग और पार्टी विधायकों को सलाह देने के लिए एक प्रमुख नीति सलाहकार भूमिका के साथ एक सुपर-कैबिनेट हो सकता है।

नेताओं के पास नहीं है घोषणा पत्र जारी करने का समय?

पंजाब में शुक्रवार सुबह चुनाव प्रचार का आखिरी दिन शुरू होने के बाद भी कांग्रेस का घोषणापत्र गायब था। कभी कैप्टन अमरिंदर सिंह के कट्टर प्रतिद्वंद्वी रहे प्रताप सिंह बाजवा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि एक दो बार घोषणापत्र निर्धारित करने के बावजूद उन्हें इसे जारी करने के लिए चंडीगढ़ जाने का समय नहीं मिला, क्योंकि वे अपने निर्वाचन क्षेत्र कादियान में प्रचार में व्यस्त हैं।

जाखड़ भी हैं नाराज

पंजाब कांग्रेस के चतुर्भुज के दूसरे भंवर सुनील जाखड़, कैप्टन अमरिंदर सिंह के पूर्व करीबी सहयोगी हैं। उन्होंने एक बार घोषणा की थी कि वह पंजाब में पहले हिंदू मुख्यमंत्री हो सकते हैं। जाखड़ प्रचार समिति के प्रमुख हैं, लेकिन कांग्रेस के भीतर कई मुद्दों पर नाराज हैं। उनमें से एक पंजाबी हिंदू होने के कारण मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी से इनकार करना भी है। उन्होंने हाल ही में अपने बयान से तहलका मचा दिया था। इसके बाद वह पंजाब चुनाव में काफी हद तक चुप रहे।

उनका दावा था कि पंजाब कांग्रेस के 42 विधायकों के द्वारा उन्हें सीएम उम्मीदवार के रूप में समर्थन देने के बावजूद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चन्नी को मुख्यमंत्री चुना। इसी निर्णय ने सिद्धू के पंजाब मॉडल अभियान को भी बाधित कर दिया।

राहुल गांधी ने 6 फरवरी को घोषणा की कि चन्नी ने पंजाब में कांग्रेस के सीएम उम्मीदवार के लिए टेली-वोटिंग पोल जीता है। इसके साथ ही सिद्धू की मुख्यमंत्री पद की महत्वाकांक्षा को भी झटका लगा। बाजवा ने भी सिद्धू की तरह खुद को अपने निर्वाचन क्षेत्र की सीमाओं तक सीमित कर लिया।

कांग्रेस का घोषणापत्र जारी नहीं होने के कारण सिद्धू ने 12 फरवरी को सोशल मीडिया पर अपना पंजाब मॉडल जारी किया।

चन्नी ने किए हैं कई वादे

सिद्धू ने अपने पंजाब मॉडल को म्यूट कर दिया है। वहीं चन्नी ने अपने चुनावी वादे के कार्ड के बारे में खुलकर बात की, जिसमें कई मुफ्त उपहार थे। महिलाओं के लिए 1,100 रुपये प्रति माह, 3 रुपये प्रति यूनिट बिजली, रेत की दर 4 रुपये प्रति क्यूबिक फीट, मासिक केबल टीवी की दर 100 रुपये, सरकार बनने के एक साल के भीतर 1 लाख नौकरियां, मुफ्त मोबाइल डेटा जैसे कई वादे चन्नी ने पंजाबी मतदाताओं से किए हैं। चन्नी ने एक साल में आठ एलपीजी सिलेंडर मुफ्त देने की भी घोषणा की है। 

कांग्रेस के पास तकनीकी रूप से शुक्रवार शाम 5 बजे तक अपना घोषणापत्र जारी करने का समय है। आपको बता दें कि पंजाब में सभी 117 सीटों के लिए 20 फरवरी को मतदान होना है। वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी।

More articles

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

Trending

jav scute online NHDTB-721 満員バスで背後から制服越しにねっとり乳揉み痴●され腰をクネらせ感じまくる巨乳女子○生17 FSDSS-501 いきなり家でヌイてイイですか?M男クンの家に無許可デリバリーでまたがり乳首責めSEX! 吉高寧々 MBYD-371 人妻の子宮めがけて下からガン突き!結合部丸見え状態の奥さんを寝取るノックアップピストンBEST 718YZF-002 トップランカー 松本いちか KTRA-464 俺を起こしにきた世話やき妹に朝勃ちチ●ポを挿入して濃厚生中出し!! 深月けい