Saturday, May 21, 2022
42.1 C
Delhi
Saturday, May 21, 2022
- Advertisement -corhaz 3

कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी जारी | मुंबई और दिल्ली में चरम के गुजरने के संकेत

कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी जारी है। बीते 24 घंटे में 2,71,202 नए मामले सामने आए हैं। एक दिन पहले दो लाख 68 हजार केस मिले थे। इस दौरान 314 लोगों की मौत भी हुई है। मुंबई और दिल्‍ली में मामलों में कमी आई है तो देश के कुछ राज्‍यों में संक्रमण में बढ़ोतरी डरा रही है। राहत की बात यह भी कि सात से 13 जनवरी के बीच आर वैल्यू में गिरावट दर्ज की गई है और यह 2.2 पर आ गई है। आइये जानें राज्‍यों में क्‍या है संक्रमण का मौजूदा सूरते हाल…

मुंबई-दिल्ली में तीसरी लहर के चरम के गुजर जाने के संकेत

मुंबई और दिल्ली में पिछले तीन दिन से मामले लगातार कम मिल रहे हैं। इससे इन दोनों महानगरों में महामारी के तीसरी लहर के चरम के गुजर जाने के संकेत मिल रहे हैं। 15 जनवरी को मुंबई में 10,661 और दिल्ली में 20,718 केस मिले थे। उससे एक दिन पहले मुंबई में 11,317 और दिल्ली में 24,383 केस पाए गए थे। वहीं, 13 जनवरी को दिल्ली में 28,867 और मुंबई में 13,702 मामले सामने आए थे।

नए मामलों में कमी भी बढ़ा रहे उम्मीद

देश के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में प्रतिदिन सामने आ रहे नए मामले राहत के संकेत दे रहे हैं। पिछले तीन दिनों से देशभर में नए मामलों के बढ़ने की रफ्तार धीमी हुई है। 11 और 12 जनवरी के बीच एक दिन में नए मामलों में 50 हजार से अधिक की वृद्धि देखी गई थी। 11 जनवरी को 1.94 लाख केस मिले थे जो 12 जनवरी को बढ़कर 2.47 लाख हो गए। परंतु, उसके बाद नए मामलों के बीच का फासला कम होता गया। 13 जनवरी को 3.64 लाख केस पाए गए, 14 जनवरी को 2.68 लाख और 15 जनवरी को 2.71 लाख। यानी इन तीन दिन में नए मामलों के बीच अंतर लगभग तीन से चार हजार का रहा है।

मुंबई में 7,895 नए केस, अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को राहत

मुंबई में रविवार को कोरोना के 7,895 नए मामले सामने आए जबकि 11 मरीजों की मौत हो गई। मुंबई में 60,371 सक्रिय मामले हैं। महानगर में संक्रमण के मामलों में कमी आता देख बीएमसी ने मुंबई में यूएई समेत दुबई से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को अब अनिवार्य रूप से सात दिवसीय होम क्वारंटाइन और आगमन पर RT-PCR जांच में छूट दी है।

महाराष्ट्र में 41,327 केस

वहीं महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना के 41,327 नए मामले आए जबकि 29 मरीजों की मौत हो गई। महाराष्‍ट्र में 2,65,346 सक्रिय मामले हैं। राज्य में रविवर को ओमिक्रोन के आठ नए केस आए जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 1,738 हो गई है।

दिल्‍ली में सुधर रहे हालात, 8,286 नए केस

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगती दिखाई दे रही है। दिल्ली में रविवार को 18,286 नए मरीज मिले जो शनिवार को आए मामलों से 2432 कम हैं। संक्रमण दर भी घटकर 27.87 प्रतिशत हो गई है। इससे पहले संक्रमण दर 30.64 प्रतिशत थी तब कोरोना के 20 हजार 718 नए मामले आए थे।

हालांकि बीते 24 घंटे में संक्रमण से 28 लोगों की मौत हो गई।  

बंगाल 14,938 और असम में 2,709 नए मामले

पश्चिम बंगाल में रविवार को कोरोना के 14,938 नए मामले आए जबकि 36 मरीजों की मौत हो गई। राज्‍य में सक्रिय मामले बढ़कर 1,60,305 हो गए हैं जबकि पाजिटिविटी रेट 27.73 फीसद है। वहीं असम में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,709 नए मामले सामने आए जबकि इस दौरान पांच लोगों की संक्रमण से मौत हो गई।  

यूपी में 17,185 नए मामले

उत्तर प्रदेश में रविवार को कोरोना के 17,185 नए मामले सामने आए जिससे सक्रिय केस की संख्या बढ़कर 1,034,74 हो गई जबकि 10 और लोगों की मौत के साथ महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 22,963 हो गई। लखनऊ में सबसे अधिक 2,392 नए मामले सामने आए, इसके बाद गाजियाबाद से 2,099, गौतमबुद्ध नगर से 1,498, मेरठ से 1206 केस सामने आए।

कर्नाटक और केरल में तेज हुई कोविड की रफ्तार

कर्नाटक में रविवार को कोरोना के 34,047 नए मामले सामने आए जबकि 13 लोगों की मौत हो गई। सूबे में संक्रमितों का आंकड़ा 32,20,087 है जबकि महामारी से 38,431 लोगों की जान जा चुकी है। राज्‍य में 1,97,982 सक्रिय मामले हैं। वहीं केरल में रविवार को कोरोना के 18,123 नए मामले सामने आए जबकि मरीज़ों की मौत हो गई। राज्‍य में कोविड-19 के 1,03,864 सक्रिय मामले हैं। सूबे में कोरोना से अब तक 50,832 लोगों की जान जा चुकी है।

तमिलनाडु में 23,975 नए मामले

तमिलनाडु में रविवार को कोविड-19 के 23,975 नए मामले सामने आए जिससे राज्य में सक्रिय मामले बढ़कर 1.42 लाख हो गए हैं। चेन्नई में संक्रमण दर बढ़कर 30.0 प्रतिशत हो गई है जो तमिलनाडु में सबसे अधिक है।

गुजरात में 10,150 नए मामले, आठ की मौत

गुजरात में रविवार को कोरोना के 10,150 नए मामले सामने आए जिससे राज्‍य में संक्रमितों की कुल संख्या 9,26,240 हो गई है। राज्‍य में एक दिन में संक्रमण से आठ रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 10,159 हो गई है। गुजरात में शनिवार को संक्रमण के 9,177 मामले सामने आए थे जबकि सात संक्रमितों की मौत हुई थी।

ओडिशा में 11,177 नए केस

ओडिशा में कोविड-19 के 11,177 नए मामले सामने आए जबकि महामारी से बीते 24 घंटों में तीन लोगों की जान भी गई। इसके साथ ही राज्‍य में पिछले साल 26 मई के बाद पहली बार दैनिक संक्रमण 11 हजार का आंकड़ा पार कर गया।

एक दिन में ओमिक्रोन के सबसे ज्‍यादा केस

ओमिक्रोन के भी 1,702 नए मामले पाए गए हैं। इससे पहले एक दिन में ओमिक्रोन के इतने मामले नहीं मिले थे। ओमिक्रोन के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 7,743 हो गई है। एक दिन पहले के मुकाबले ओमिक्रोन के नए मामलों में 28.17 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। विशेषज्ञों का कहना है कि देश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में वृद्धि की वजह ओमिक्रोन वैरिएंट ही है। परंतु प्रत्येक नमूने की जीनोम सीक्वेंसिंग संभव नहीं है इसलिए ओमिक्रोन के मामलों की संख्या कम है।

सक्रिय मामलों में इजाफा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 15,50,377 हो गई है जो 225 दिन में सबसे अधिक और कुल मामलों का 4.18 प्रतिशत है। एक दिन में सक्रिय मामलों में 1,32,557 की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

रिकवरी रेट में गिरावट

मरीजों के उबरने की दर में लगातार गिरावट आ रही है। अभी यह 94.51 प्रतिशत पर है। राहत की बात यह है कि मामलों में बेतहाशा वृद्धि के बावजूद मृत्युदर घट रही है और वर्तमान में यह 1.31 प्रतिशत पर आ गई है। एक दिन पहले के मुकाबले दैनिक संक्रमण दर में मामूली कमी आई है और यह 16.28 प्रतिशत है। एक दिन पहले यह 16.66 प्रतिशत थी। साप्ताहिक संक्रमण दर 13.69 प्रतिशत दर्ज की गई है।

आर वैल्यू गिरकर 2.2 पर आई

हालांकि राहत की बात यह है कि आर वैल्यू गिरकर 2.2 पर आ गई है। आइआइटी मद्रास के प्रारंभिक विश्लेषण के मुताबिक इससे पहले के दो हफ्ते में यह क्रमश: चार और 2.9 थी। आइआइटी मद्रास के गणित विभाग और सेंटर आफ एक्सिलेंस फार कंप्यूटेशनल मैथेमेटिक्स एंड डाटा साइंस के प्रोफेसर नीलेश एस उपाध्ये और प्रोफेसर एस सुंदर द्वारा किए गए विश्लेषण के मुताबिक मुंबई की आर वैल्यू 1.3, दिल्ली की 2.5, चेन्नई की 2.4 और कोलकाता की 1.6 पाई गई है। 25-31 दिसंबर के बीच आर वैल्यू 2.9 और एक से छह जनवरी के बीच आर वैल्यू चार थी।

क्या होती है आर वैल्यू

आर वैल्यू वायरस के प्रसार की तेजी को प्रदर्शित करती है। इससे यह पता चलता है कि एक संक्रमित व्यक्ति कितने लोगों को संक्रमित कर रहा है। 2.2 आर वैल्यू का मतलब है कि एक संक्रमित व्यक्ति दो से अधिक लोगों को संक्रमित कर रहा है। आर वैल्यू एक से कम होने पर यह मान लिया जाता है कि महामारी अब खत्म हो रही है। आइआइटी मद्रास के गणित विभाग में सहायक प्रोफेसर डा. जयंत झा ने कहा कि आर वैल्यू प्रसार की संभाव्यता, संपर्क दर और संक्रमण होने में लगने वाले अपेक्षित समय पर निर्भर करती है। 

More articles

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

Trending