Sunday, June 16, 2024
44.1 C
Delhi
Sunday, June 16, 2024
- Advertisement -corhaz 3

उत्तरकाशी सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को बाहर निकलने में आ रही दिक्कतों के साथ अब पहाड़ों में मौसम बिगड़ने के भी संकेत |

Uttarkashi Weather Update: उत्तराखंड (Uttarakhand Tunnel Rescue) के उत्तरकाशी (Uttarkashi Tunnel) में सिलक्यारा सुरंग ( Silkyara Tunnel News) में बीते 15 दिनों से फंसे 41 मजदूर जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं और उन्हें अब भी राहत की सांस का इंतजार है. सुरंग में फंसे मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए सारी कवायदें जारी हैं, मगर पहाड़ का सीना चीरकर ये लोग कब बाहर आएंगे, इसका अंदाजा लगाना अब मुश्किल होता जा रहा है. रेस्क्यू टीम को बार-बार आ रही दिक्कतों से ऑपरेशन थोड़ा कठिन होता जा रहा है. एक ओर जहां सुरंग में फंसे मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए युद्धस्तर पर काम हो रहा है, वहीं दूसरी ओर उत्तरकाशी में मौसम पूर्वानुमान से मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. उत्तरकाशी में अब जो मुसीबत सामने आने वाली है, वह कुदरती है, क्योंकि उत्तरकाशी में बारिश-बर्फबारी की संभावना जताई जा रही है. अगर ऐसा होता है तो फिर मजदूरों के लिए यह किसी मुसीबत से कम नहीं है. साथ ही रेस्क्यू टीम के लिए भी यह किसी चुनौती से कम नहीं है.

दरअसल, उत्तरकाशी में मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग की मानें तो उत्तरकाशी के साथ-साथ चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में बारिश और बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी किया गया है. बताया जा रहा है कि तेज आंधी के साथ बर्फबारी होगी. बारिश और बर्फबारी से उत्तरकाशी के तापमान में भी बदलाव होगा और ऐसे में बचावकर्मियों के साथ-साथ सुरंग में फंसे 41 मजदूरों की भी मुसीबत बढ़ सकता है. माना जा रहा है कि बारिश और बर्फबारी की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन का काम भी प्रभावित हो सकता है और ऐसे में सुरंग से बाहर निकलने की उम्मीद लगाए मजदूरों का इंतजार भी लंबा हो सकता है.

बारिश-बर्फबारी की आशंका
आशंका जताई जा रही है कि आज उत्तरकाशी में बारिश के साथ-साथ बर्फबारी भी होगी. अगर ऐसा होता है तो फिर न केवल रेस्क्यू ऑपरेशन का काम रुकेगा, बल्कि सुरंग के भीतर पानी जाने का भी खतरा बढ़ जाएगा. इससे न केवल रेस्क्यू टीम के काम पर पानी फिरेगा, बल्कि सुरंग में फंसे मजदूरों को भी इससे दिक्कतें आ सकती हैं. उत्तरकाशी में पहले से ही सुरंग में फंसे लोगों को निकालने में बचावकर्मियों को काफी दिक्कतें आ रही हैं. ऐसे में बारिश और बर्फबारी की वजह से अभियान पर बुरा असर पड़ सकता है. मौसम विभाग की मानें तो 28 नवंबर को भी उत्तरकाशी में कमोबेश कुछ ऐसा ही मौसम रहने वाला है.

12 दिसंबर से फंसे हैं 41 मजदूर
गौरतलब है कि 12 नवंबर को उत्तरकाशी के सिलक्यारा में निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहने से वहां 41 मजदूर फंस गए थे. उन्हें निकालने के लिए पिछले 15 दिनों से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, जिसमें एनडीआरएफ से लेकर कई एजेंसियां लगी हुई हैं. 41 मजदूरों को सुरंग से बाहर निकालने के लिए संजीवनी मानी जा रही अमेरिकी ऑगर मशीन भी खराब हो गई है. ऑगर मशीन में आई खराबी की वजह से ही अब मजदूरों को निकालने में अधिक वक्त लग रहा है. ऑगर मशीन के टुकड़ों को निकालने का प्रयास जारी है. ये सभी मजदूर कब तक सुरंग से बाहर निकल पाएंगे, इसे लेकर कोई स्पष्ट जवाब देने को तैयार नहीं है. हालांकि, एक्सपर्ट्स ने दावा किया है कि अभी कुछ और वक्त लगेगा.

More articles

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

Trending