Sunday, January 29, 2023
15.1 C
Delhi
Sunday, January 29, 2023
- Advertisement -corhaz 3

बिजली संशोधन बिल हो सकता है सदन में आज पारित |

एआईपीईएफ के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे ने कहा कि मोबाइल फोन सिम की तरह बिजली कंपनियों का विकल्प मिलने का दावा भ्रामक है। इस बिल के अनुसार, केवल सरकारी डिस्कॉम के पास ही बिजली की पूरी आपूर्ति की जिम्मेदारी होगी। जबकि निजी कंपनियां केवल फायदा कमाने वाले क्षेत्रों को ही बिजली आपूर्ति करना पसंद करेंगी।

विस्तार

देश के बिजली क्षेत्र में बड़े सुधार करने की मंशा के साथ केंद्र सरकार सोमवार को बिजली संशोधन विधेयक, 2022 लोकसभा में पेश कर सकती है। यह विधेयक देश के मौजूदा बिजली वितरण क्षेत्र में बड़े बदलाव ला सकती है। साथ ही पूरे बिजली सेक्टर में निजी क्षेत्र की हिस्सेदारी को और बढ़ाने का रास्ता खुल सकता है। पूरे देश में पहली बार बिजली ग्राहकों को एक से ज्यादा बिजली वितरण कंपनियों को चुनने का विकल्प खोल सकता है। विधेयक के जरिए सरकार केंद्र व राज्यों के बिजली नियामक आयोग के ढांचे में भी कुछ महत्वपूर्ण बदलाव लाया जाएगा।

बिजली संशोधन विधेयक 2022 (Electricity Amendment Bill 2022) में बिजली ग्राहकों को पसंद वाले सेवा प्रदाताओं को चुनने का दावा पूरी तरह भ्रामक है। इससे राज्य के डिस्कॉम घाटे में जा सकते हैं। ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन (All India Power Engineers Federation) के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में मांग की है कि विधेयक को पेश करने से पहले व्यापक राय मशविरा के लिए ऊर्जा संबंधी संसदीय स्थायी समिति के पास भेजा जाए। इस विधेयक को सोमवार को लोकसभा में पेश किया जाना है।

दुबे ने कहा, मोबाइल फोन सिम की तरह बिजली कंपनियों का विकल्प मिलने का दावा भ्रामक है। इस बिल के अनुसार, केवल सरकारी डिस्कॉम के पास ही बिजली की पूरी आपूर्ति की जिम्मेदारी होगी। जबकि निजी कंपनियां केवल फायदा कमाने वाले क्षेत्रों को ही बिजली आपूर्ति करना पसंद करेंगी। इससे इस तरह की कंपनियां सरकारी डिस्कॉम के बजाय निजी क्षेत्र से बिजली लेंगी और डिस्कॉम घाटे में चले जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सरकारी डिस्कॉम नेटवर्क को भी कम कीमतों पर निजी लाइसेंसधारियों को सौंप दिया जाएगा। बिल के मुताबिक, प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देने के लिए बिजली क्षेत्र की स्थिरता, भुगतान सुरक्षा तंत्र, ग्राहकों को विकल्प प्रदान करने की जरूरतों और साथ ही नई चुनौतियों जैसे बिजली अधिनियम में भी बदलाव करना आवश्यक हो गया है। 

बिजली की लागत कम होने वाली नहीं 
दुबे ने बताया, चूंकि ऊर्जा खरीद करार 25 सालों के लिए होते हैं। इसलिए इसकी लागत में कोई कमी नहीं होगी। सस्ती बिजली का वादा एक मजाक है। 85 फीसदी ग्राहक किसान और घरेलू उपयोग वाले हैं। यह सभी ग्राहक सब्सिडी पर बिजली पाते हैं। इसलिए इसमें कोई प्रतिस्पर्धा नहीं हो सकती है। 

More articles

- Advertisement -corhaz 300

Latest article

Trending

prestige premium online OKP-105 노사키 미사쿠라 신 팬티 스타킹 OL 편 OL 슈트의 미각을 감싼 생문화 팬티 스타킹을 완전 착의로 무레 한 발바닥에서 발가락을 맛 다! - 때로는 얼굴 기나 발목, 때로는 엉덩이에 코스하거나 발바닥에 뿌려 하고 싶은 무제한! - 발정 된 여자의 변태 조교 절정 플레이를 즐기는 페티쉬 AV MVSD-529 여름방학… 오랜만에 귀성한 나는… - 시라카와 미나미 FC2-PPV-3124662 첫 촬영! - ! - 11/16까지 한정! - 【무수정】 시네마 화풍! - 불꽃놀이처럼 바쁘게 격렬하게 만나는 여름날의 추억. - 설마 그녀 같은 숙련된 여대생이 이렇게도 흐트러진다니 생각도 하지 않았다···2회 질 내 사정! - ! HEZ-483 잡아! - 먹어라! - 숙녀 합콘 NEO 마셔! - 시끄러워! - 야리 뿌린다! - 이것이 어른의 회식이다! - ! FC2-PPV-3124321 【그라돌 학생 그녀】 용돈에 잡혀 온 20 대 남녀 ❤ 리얼 SEX 찍어 주셨습니다. - SEX 자랑의 남자친구의 AV피스톤으로 사랑의 고무 질 내 사정♥【특전→그 앞에서 거근 헐떡이는 그녀, 질 내 사정】